Skip to content

Naukari4u

More results...

Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Post Type Selectors
Filter by Categories
Admit Card
Answer Key
Bihar Govt. Jobs
chhattisgarh Govt. Jobs
Delhi Govt. Jobs
DOPT ORDER
DSSSB
ELECTRICAL
Haryana GK Hindi
Haryana Govt. Jobs
HPSC
HRMS
HSSC
HSSC EXAM
ITI
Latest Jobs
LHB TL & AC
Previous Year Question Paper
Public Notice
Punjab Govt. Jobs
RAILWAY
Railway Govt. Jobs
Rajasthan Govt. Jobs
RPSC
RSMSSB
Seniority
Service Rules
Share Market
Solved Papers
SSC
Syllabus
UK Govt. Jobs
UKPSC
UKSSSC
Uncategorized
UP Govt. Jobs
UPPBPB
UPSC
UPSSSC

What are the basic rules of trading in the share market? 

Share Market Trading Basic Rules :- अगर अनुशासन, ज्ञान और स्पष्ट रणनीति के साथ शेयर बाजार में ट्रेडिंग की जाए तो यह एक फलदायी प्रयास हो सकता है। यहां कुछ बुनियादी नियम दिए गए हैं जो व्यापारियों को बाजार को अधिक प्रभावी ढंग से संचालन करने में मदद कर सकते हैं।

शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग के बुनियादी नियम क्या हैं?

What are the basic rules of trading in the share market? 

1. खुद को शिक्षित करें (Educate Yourself ) 

ट्रेडिंग में उतरने से पहले, शेयर बाजार की मूल बातें, ट्रेडिंग कैसे काम करती है, और व्यापारियों द्वारा उपयोग की जाने वाली विभिन्न रणनीतियों को समझने के लिए समय निकालें। वित्तीय उपकरणों, बाजार संकेतकों और ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म से खुद को परिचित करें।

2. अपने Trades की योजना बनाएं (Plan Your Trades)

प्रत्येक व्यापार के लिए एक स्पष्ट ट्रेडिंग योजना विकसित करें, जिसमें प्रवेश और निकास बिंदु, लाभ लक्ष्य और स्टॉप-लॉस स्तर शामिल हों। एक सुविचारित योजना आपको व्यवस्थित रूप से व्यापार करने और भावनात्मक निर्णय लेने से बचने में मदद कर सकती है।

3. जोखिम प्रबंधन (Risk Management)

हमेशा जानें कि आप एक ही व्यापार पर अपनी कितनी पूंजी जोखिम में डालने को तैयार हैं। एक सामान्य नियम यह है कि किसी भी व्यापार पर अपनी व्यापारिक पूंजी का 1-2% से अधिक जोखिम न लें। इससे यह सुनिश्चित करने में मदद मिलती है कि नुकसान से आपकी कुल पूंजी पर कोई खास असर नहीं पड़ेगा।

4. अपने निवेश में विविधता लाएं (Diversify your investments)

अपनी सारी पूंजी को एक ही स्टॉक या सेक्टर में केंद्रित करने से बचें। विविधीकरण जोखिम फैलाने में मदद कर सकता है और आपके समग्र पोर्टफोलियो पर किसी एक निवेश के खराब प्रदर्शन के प्रभाव को कम कर सकता है।

5. सूचित रहें (Stay Informed)

वित्तीय समाचार, बाजार के रुझान और आर्थिक संकेतकों से अवगत रहें जो स्टॉक की कीमतों को प्रभावित कर सकते हैं। सूचित रहने से आपको अधिक शिक्षित व्यापारिक निर्णय लेने में मदद मिलेगी।

6. भावनाओं पर नियंत्रण रखें (Control Emotions)

भावनात्मक व्यापार से आवेगपूर्ण निर्णय और महत्वपूर्ण नुकसान हो सकता है। डर और लालच शक्तिशाली भावनाएं हैं जो बाजार में उतार-चढ़ाव ला सकती हैं। अपनी ट्रेडिंग योजना पर टिके रहना और तर्कसंगत निर्णय लेना सफलता के लिए महत्वपूर्ण है।

7. स्टॉप लॉस और Target ऑर्डर का उपयोग करें (Use stop loss and target orders)

स्टॉप-लॉस ऑर्डर एक निश्चित मूल्य तक पहुंचने पर सुरक्षा को स्वचालित रूप से बेचकर आपको महत्वपूर्ण नुकसान से बचा सकते हैं। इसी तरह, लाभ लेने के आदेश पूर्व निर्धारित लाभ स्तर तक पहुंचने पर सुरक्षा को स्वचालित रूप से बेचकर आपके मुनाफे को सुरक्षित करने में मदद कर सकते हैं।

8. अपने ट्रेडों की समीक्षा करें और उनसे सीखें (Review your trades and learn from them)

यह समझने के लिए नियमित रूप से अपने ट्रेडों की समीक्षा करें कि क्या काम आया और क्या नहीं। आपके सफल और असफल दोनों ट्रेडों से सीखने से आपको समय के साथ अपनी ट्रेडिंग रणनीति को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है।

9. कर निहितार्थ (Tax Implications) को समझें:

अपनी व्यापारिक गतिविधियों के कर परिणामों से अवगत रहें। ट्रेडिंग से होने वाला पूंजीगत लाभ आपकी कर देनदारी को प्रभावित कर सकता है, इसलिए अपने लेनदेन का सटीक रिकॉर्ड रखना महत्वपूर्ण है।

10. अनुशासित रहें

अनुशासन सफल ट्रेडिंग की कुंजी है। अपनी ट्रेडिंग योजना पर कायम रहें, अपने नियमों का पालन करें और भावनाओं को अपने ट्रेडिंग निर्णयों पर हावी न होने दें। समय के साथ निरंतरता और अनुशासन से बाज़ार में सफलता मिल सकती है।

11. अस्थिरता के लिए तैयार रहें

शेयर बाजार अप्रत्याशित और अस्थिर हो सकता है। उतार-चढ़ाव के लिए तैयार रहें और समझें कि सभी व्यापार लाभदायक नहीं होंगे। एक दीर्घकालिक परिप्रेक्ष्य और एक स्थिर दृष्टिकोण आपको बाज़ार की अस्थिरता से निपटने में मदद कर सकता है।

12. जानिए कब रुकना है ? (Know when to stop?)

यदि आप लगातार घाटे का सामना कर रहे हैं या यदि ट्रेडिंग आपके लिए काफी तनाव का कारण बन रही है, तो एक कदम पीछे हटें। कभी-कभी, ब्रेक लेने से आपको स्पष्ट दृष्टिकोण मिल सकता है और आपको अपनी रणनीतियों को समायोजित करने में मदद मिल सकती है। यदि आप लगातार घाटे का सामना कर रहे हैं या यदि ट्रेडिंग आपके लिए काफी तनाव का कारण बन रही है, तो एक कदम पीछे हटें। कभी-कभी, ब्रेक लेने से आपको स्पष्ट दृष्टिकोण मिल सकता है और आपको अपनी रणनीतियों को समायोजित करने में मदद मिल सकती है।

अस्वीकरण

यहाँ पर दी गयी सभी जानकारियाँ किसी अन्य पक्ष के विभिन्न साधनों पर उपलब्ध जानकारी पर आधारित है। यहा पर दी गई जानकारी से हुए किसी भी तरह के नुकसान के लिये naukari4u जिम्मेदार नहीं है। यहाँ पर दी गयी जानकारी कानूनी रूप से वैध नहीं है। हम टाइपिंग के कारण या अनजाने में हुई किसी भी त्रुटि के लिए जिम्मेदार नहीं हैं।

आपसे अनुरोध है यहा पर दी गई जानकारी को अपने स्तर पर अवश्य जाँच ले। Naukari4u हमेशा दी गई जानकारी के प्राथमिक सोर्स के दस्तावेजों या उस सोर्स के नाम/लिंक को आर्टिकल मे इंगित करने का हर संभव प्रयास करता है।

error: Content is protected !!